Editorial

बिहार में बम विस्फोट

January 25, 2015 03:06 PM

 संपादकीय/महावीर गोयल,  बिहार के आरा न्यायालय परिसर में विस्फोट को सामान्य नहीं माना जा सकता, लेकिन बिहार के लिए यह कोई नई बात नहीं है। सवाल यह है कि इस विस्फोट का मकसद क्या था? बिहार में पहले भी अदालत परिसर में बम विस्फोट की कई घटनाएं हो चुकी हैं। लेकिन इस विस्फोट की खास बात यह थी कि बम लाने वाली महिला और एक विचाराधीन कैदी की मौत हो गई। विस्फोट में आठ-दस लोग घायल हो गए। इनमें सिपाही अमित कुमार की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। कुछ घायलों की हालत अभी नाजुक है। जैसा कि हमेशा होता है विस्फोट की घटना के बाद सुरक्षा बढ़ा दी गई। छानबीन शुरू कर दी गई है। फिलहाल पहली नजर में इसे आतंकवादी मामला नहीं माना जा रहा है, लेकिन विस्फोट के दौरान मची अफरा-तफरी में दो कैदियों का फरार हो जाना, जरूर मामले को गंभीर बना रहा है। सवाल यह है कि क्या बम विस्फोट में मारी गई महिला का उद्देश्य कैदियों को मुक्त कराना था, जिसके लिए वह थैले में बम लेकर आई थी। अगर ऐसा था भी तो निश्चित रूप से महिला को योजना में शामिल करने वाले कुछ अन्य लोग भी होंगे। महिला की शिनाख्त नहीं हो पाई, इसलिए मुख्य साजिशकर्ताओं की भी शिनाख्त करना आसान नहीं है। हालांकि यह तय है कि महिला का इस्तेमाल मानव बम के रूप में नहीं किया गया, क्योंकि वह अलग से बम लेकर आई थी और विचाराधीन कैदियों को लेकर जैसे ही पुलिस की गाड़ी वहां रुकी, संयोगवश बम विस्फोट हो गया। यह रिमोट कंट्रोल से किया गया ब्लास्ट नहीं था। बिहार भी नक्सली प्रभावित इलाकों में आता है। एक विचाराधीन कैदी विस्फोट में ही मारा गया, जबकि दो फरार हो गए। अगर इन फरार कैदियों का पता लग जाए तो जरूर पता लगाया जा सकता है कि असली साजिश क्या थी। गणतंत्र दिवस के तीन दिन पहले हुई यह घटना निश्चित रूप से गंभीर है। केंद्र सरकार ने भी सुरक्षा के मद्देनजर बिहार सरकार से घटना की पूरी रिपोर्ट तलब की है। चूंकि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का शुक्रवार को पटना में पहला कार्यक्रम था, इसलिए उनकी सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी कर दी गई है। वैसे इस विस्फोट का अमित शाह के कार्यक्रम से कोई संबंध नजर नहीं आता। ज्यादा आशंका इसी बात की जतायी जा रही है कि महिला विचाराधीन कैदियों को छुड़ाने आई थी, जिसमें वह बम का इस्तेमाल भी करती। लेकिन बम गलत समय पर फट गया, जिसमें वह स्वयं भी मारी गई। गणतंत्र दिवस के मौके पर कुछ ज्यादा ही सावधानी बरतनी की जरूरत है।

Have something to say? Post your comment
India Kesari
Email : editor@indiakesari.com
Copyright © 2016 India Kesari All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech