Chandigarh

गुरमीत राम रहीम के साथ जेल में सामान्य बंदियों जैसा व्यवहार

August 26, 2017 07:00 PM

इंडिया केसरी/चण्डीगढ़- रोहतक के उपायुक्त अतुल कुमार ने कहा है कि यौन शोषण मामले में सीबीआई कोर्ट द्वारा दोषी ठहराये गए गुरमीत राम रहीम के साथ सुनारियां जेल में सामान्य बंदियों जैसा व्यवहार किया जा रहा है और उन्हें दूसरे कैदियों की तरह ही खाना दिया गया है। यह जानकारी उन्होंने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के दौरान रोहतक में दी। उन्होंने कहा कि जेल मैनुअल के अनुसार ही दोषी गुरमीत राम रहीम को खाना दिया गया है। उन्होंने कहा कि रोहतक में स्थिति पूर्ण रूप से नियंत्रण में है और पुलिस प्रशासन किसी भी स्थिति से निपटने के लिए एकदम तैयार है। उन्होंने जिला से बाहर के लोगों से आग्रह किया है कि वे बिना किसी उचित एवं आवश्यक उदेश्य के रोहतक न आये, क्योंकि रोहतक में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की जगह-जगह पर जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि अगर जांच के दौरान व्यक्ति अपनी पहचान और रोहतक आने का उदेश्य स्पष्ट नहीं कर पाया तो उसे हिरासत में ले लिया जाएगा। उपायुक्त ने कहा कि पुलिस प्रशासन द्वारा अब तक ७ लोगों को हिरासत में लिया जा चुका है। उपायुक्त ने कहा कि जिला की सीमाओं में जगह-जगह पर नाके लागायें गए है और डयूटी मजिस्ट्रैट को भी तैनात किया गया है। बीती रात भी प्रशासन के उच्च अधिकारियों ने नाकों पर जाकर जांच पड़ताल की है। उन्होंने बताया कि जिला मेें अर्धसैनिक बलों की १० टुकडिय़ां तैनात की गई है, इनमें से ६ टुकडिय़ा जिला की सीमा पर तैनात है और शेष ४ टुकडियां जिला के आंतत्रिक क्षेत्र में सुरक्षा का काम कर रही है। इसके अलावा हरियाणा पुलिस के ८ डीएसपी भी जिला के अलग-अलग स्थानों पर सुरक्षा की कमान संभाले हुए है। उन्होंने जिला के लोगों से कहा है कि उन्हें खौफजदा होने की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि सुरक्षा के व्यापाक बंदोबस्त है। उन्होंने लोगों से अफवाह अथवा किसी के बहकावें में भी न आने की अपील की है। उपायुक्त ने कहा कि सेना के १८ कालम रोहतक बुलाये गए है और जल्द ही सेना रोहतक में फ्लैग मार्च करेगी। उन्होंने कहा कि दोषी करार दिये गए गुरमीत राम रहीम को २८ अगस्त को सजा सुनाई जाएगी। इसके मध्यनजर रोहतक पुलिस प्रशासन ने विशेष तैयारी की है।
जिलाधीश ने जारी किये ठीकरी पहरा के आदेश
जिलाधीश अतुल कुमार ने दी पंजाब विलेज एंड स्माल टाऊन पेट्रोल एक्ट १९१८ की धारा-३(१) के तहत सभी गांव में ठीकरी पहरा लगाने के आदेश जारी किये है। इन आदेशों में कहा गया है कि सभी गांव के सभी स्वस्थ नौजवान अपने-अपने क्षेत्रों में स्थित सरकारी अथवा सामुदायिक संस्थानों आदि की सुरक्षा के लिए ठीकरी पहरा देंगे। इस कार्य को करवाने की जिम्मेदारी संबंधित खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी व ग्राम पंचायतों पर होगी। आदेशों में कहा गया है कि जिला के सभी एसएचओ इस संबंध में संबंधित ग्राम पंचायतों से निरंतर सम्पर्क बनाएं रखेंगे।
धारा १४४ के आदेश जारी
जिला मजिस्ट्रैट अतुल कुमार ने अपराध प्रक्रिया संहिता १९७३ की धारा १४४ के तहत जिला में निषेधाज्ञा लागू करने के आदेश जारी किये है। सीबीआई न्यायालय द्वारा डेरा सच्चा सौदा सिरसा के मुखिया गुरमीत राम रहीम को सजा सुनाये जाने के बाद जिला में शांति एवं व्यवस्था बनाएं रखने के उदेश्य से ही उक्त आदेश जारी किये गए है। आदेशों के अनुसार जिला की परिधि में पांच या अधिक लोगों के एक स्थान पर इकठ्ठा होने पर मनाही रहेगी और कोई भी व्यक्ति अपने साथ आग्नय शस्त्र  जैसे तलवार, लाठी, बरछा, कुल्हाडी, जेली गंडासा व चाकू जैसे हथियान लेेकर नहीं चल सकेगा।

Have something to say? Post your comment
India Kesari
Email : editor@indiakesari.com
Copyright © 2016 India Kesari All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech