Latest
सचिन यू आर ग्रेट: दिल रो रहा था, फिर भी शतक ठोक कर दिलाई जीतफरीदाबाद-भीमराव अम्बेडकर एवं संत रविदास की प्रतिमाओं पर मालाएं अर्पण कीफरीदाबाद: विकास के मामले में बदलेगा प्रदेश का स्वरूप : खट्टरसोहना :बिजली समस्या को लेकर किया जोरदार विरोध प्रदर्शनपलवल : मुख्यमंत्री ने प्रदेश में सरकारी भवनों में एलईडी लाईटे लगाने की घोषणा कीचंडीगढ़:पहलवान योगी बने समाज सेवी, टवीट्र पर उठाई समस्याचंडीगढ़:पीएम व सीएम की बैठक पर विरोधियों ने जताई आपत्तिचंडीगढ़:विधानसभा में सरकार को घेरेगी कांग्रेसहथीन: छात्राओं ने की सरकारी कार्यालयों व बैंकों की विजिट फरीदाबाद:मिस और मिसस वोग इंडिया में हरीश चन्द्र आज़ाद को किया सम्मानित
Haryana

हथीन:फोन पर तीन तलाक मामला; लडका पक्ष को देने होंगे 25 लाख

January 12, 2017 04:19 PM

हथीन:हथीन सब डिविजनल के गांव मलाई के एक नवयुवक द्वारा मोबाइल फोन पर अपनी बीबी को दिए गए तलाक मामले का पटाक्षेप हो गया है। बुधवार को उटावड गांव में चार घंटे से अधिक चली पंचायत में निर्णय लिया कि लडकी पक्ष को लडके पक्ष की तरफ से 25 लाख रूपये दिए जाएंगे। उक्त रकम एक फरवरी तक जमा करानी होगी। लडका पक्ष ने पांच लाख रूपये के चैक और साढे 9 तोला सोना पंचायत के समक्ष सिक्योरटी के रूप में रखा। तब जाकर पंचायत हुई। हालांकि यह पंचायत 9 जनवरी को होनी थी, लेकिन किसी कारणवश 9 जनवरी को न होकर 11 जनवरी को हुई। उल्लेखनीय है कि मलाई निवासी एक नवयुवक नसीम अहमद की शादी राजस्थान के जिला अलवर अंर्तगत गांव चैलाकी निवासी रेशमा (काल्पनिक नाम) के साथ 15 मई 2011 को मुस्लिम रिति रिवाज के साथ हुई थी। अनबन के चलते नसीम अहमद ने 15 जनवरी 2014 को अपनी बीबी को फोन पर तलाक दे दिया। इस तलाक को दारूल उलूम देबवंद व फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम की तरफ से फतवा जारी करके सही करार दिया गया। लेकिन लडकी पक्ष की तरफ से 23 दिसम्बर को रेश्मा (काल्पनिक नाम) व उसके दोनों बच्चों को उसकी ससुराल मलाई में उसके घर छोड गए। जिसे लेकर नसीम अहमद ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई और अपनी बीबी को घर से निकालने की गुहार लगाई। जिस पर हथीन के डीएसपी बलवीर सिंह ने मोबाइल फोन पर दिए गए तलाक को अमान्य करार देते हुए, साफ कहा कि कानूनन तलाक लो, अदालत का दरवाजा खटखटाओ, या फिर इस मामले को आपसी सहमति से निपटा लो। पुलिस किसी भी सूरत में किसी महिला को जबरन उसके घर से नहीं निकाल सकती। इस मामले को लेकर 25 व 29 दिसम्बर को पंचायतें हुईं, पंचायत में 5 लाख रूपये सिक्योरटी के रूप में लडका पक्ष को जमा कराने का फरमान सुनाया गया। लेकिन लडका पक्ष पांच लाख रूपये पंचायत के समक्ष जमा नहीं कर पाया। इसके बाद जब डीएसपी हथीन ने लडका पक्ष को जमकर लताड लगाई, तब जाकर पंचायत की तिथि 9 जनवरी निश्चित करते हुए सिक्योरटी राशि जमा कराने का लडका पक्ष ने आश्वासन दिया। पंचायत की तरफ से चौधरी शौकत अली सिरौली ने लडका पक्ष पर 25 लाख रूपये, लडकी पक्ष को अदा करने का फैसला सुनाया है। जोकि एक फरवरी तक लडकी पक्ष को दिए जाने हैं और दोनों बच्चे लडका पक्ष के पास ही रहेंगे।



Have something to say? Post your comment
India Kesari
Email : editor@indiakesari.com
Copyright © 2016 India Kesari All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech