Latest
जम्मू कश्मीर: सेना ने 24 घंटे में 10 आतंकियों को किया ढेरचण्डीगढ़ - मुख्यमंत्री ने मीडियाकर्मियों के लिए विभिन्न प्रोत्साहन देने की घोषणाएं कीकरनाल :महिला सुरक्षा एवं कानून व्यवस्था को लेकर cm आवास का किया घेराव पुन्हाना :बिजली निगम ने 210 लोगों को दिया बिजली कनैक्शनगुरूग्राम:खुले में शौच न करने के प्रति लोगों को किया जा रहा जागरूक गुरूग्राम: डॉक्टरों व स्टॉफ का टोटा, कैसे मिले बेहतर इलाज- अभय जैनचंडीगढ़:मध्य प्रदेश में लागू होगी हरियाणा की पुलिस नीतिचंडीगढ़:भाजपा सांसद राजकुमार सैनी जाटलैंड में करेंगे शक्ति प्रदर्शनफरीदाबाद: राष्ट्रपति ओर प्रधानमंत्री को लिखेंगे ईच्छमृत्यु देने का पत्र : कन्डेरापुन्हाना : जिला प्रशासन ही दे रहा भ्रष्ट्राचार को बढ़ावा
National

भारतीय नौसेना में सबमरीन खांदेरी शामिल, कई गुना बढ़ेगी भारत की ताकत

January 12, 2017 10:29 AM

मुंबई: कालवरी श्रेणी की दूसरी पनडुब्बी खांदेरी का जलावतरण आज यहां मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड (एमडीएल) में किया गया। इसके साथ ही खांदेरी भारतीय नौसेना में शामिल हो गया। इसके भारतीय नौसेना में शामिल होने के बाद भारत की समुद्री ताकत कई गुणा बढ़ जाएगी। केंद्रीय रक्षा राज्यमंत्री सुभाष भामरे जलावतरण समारोह की अध्यक्षता की।सबमरीन 'खांदेरी' दुश्मन का पता लगते ही उस पर गाइडेड हथियारों से हमला करने में पूरी तरह से सक्षम है। यह पानी के नीचे से और जल के सतह से दोनों तरह से दुश्मन पर हमला कर सकती है।  इससे तारपीडो के साथ-साथ ट्यूब से भी एंटी शिप मिसाइलें दागी जा सकती हैं।  इसकी स्टैल्थ तकनीक इसे अन्य पनडुब्बियों के मुकाबले शानदार व बेजोड़ बनाती है। इस पनडुब्बी का इस्तेमाल अन्य किसी भी आधुनिक पनडुब्बी द्वारा किये जाने वाले विविध प्रकार के कार्यों के लिए किया जा सकता है।गौर हो कि भारत दुनिया के उन कुछ देशों में शामिल है जो परंपरागत पनडुब्बियों का निर्माण करते हैं। भारतीय नौसेना के प्रोजेक्ट 75 के तहत एमडीएल में फ्रांस के मैसर्स डीसीएनएस के साथ साझेदारी में छह पनडुब्बियों का निर्माण किया जा रहा भारतीय नौसेना की पनडुब्बी शाखा इस साल आठ दिसंबर को 50 साल पूरे करेगी।आठ दिसंबर, 1967 को भारतीय नौसेना में पहली पनडुब्बी आईएनएस कालवरी के शामिल होने के साथ इस दिन हर साल पनडुब्बी दिवस मनाया जाता है। भारत पहली स्वदेश निर्मित पनडुब्बी आईएनएस शाल्की के शामिल होने के साथ सात फरवरी, 1992 को पनडुब्बी बनाने वाले देशों के विशेष समूह में शामिल हो गया था। खांदेरी नाम मराठा बलों के द्वीपीय किले के नाम पर दिया गया था जिसकी 17वीं सदी के अंत में समुद्र में मराठा बलों का सर्वोच्च अधिकार सुनिश्चित करने में बड़ी भूमिका थी।

Have something to say? Post your comment
India Kesari
Email : editor@indiakesari.com
Copyright © 2016 India Kesari All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech