Latest
जम्मू कश्मीर: सेना ने 24 घंटे में 10 आतंकियों को किया ढेरचण्डीगढ़ - मुख्यमंत्री ने मीडियाकर्मियों के लिए विभिन्न प्रोत्साहन देने की घोषणाएं कीकरनाल :महिला सुरक्षा एवं कानून व्यवस्था को लेकर cm आवास का किया घेराव पुन्हाना :बिजली निगम ने 210 लोगों को दिया बिजली कनैक्शनगुरूग्राम:खुले में शौच न करने के प्रति लोगों को किया जा रहा जागरूक गुरूग्राम: डॉक्टरों व स्टॉफ का टोटा, कैसे मिले बेहतर इलाज- अभय जैनचंडीगढ़:मध्य प्रदेश में लागू होगी हरियाणा की पुलिस नीतिचंडीगढ़:भाजपा सांसद राजकुमार सैनी जाटलैंड में करेंगे शक्ति प्रदर्शनफरीदाबाद: राष्ट्रपति ओर प्रधानमंत्री को लिखेंगे ईच्छमृत्यु देने का पत्र : कन्डेरापुन्हाना : जिला प्रशासन ही दे रहा भ्रष्ट्राचार को बढ़ावा
Haryana

हथीन;बस अडडा क्षेत्र में अतिक्रमण के चलते जाम बना आम

January 11, 2017 06:35 PM

हथीन;बस अडडा क्षेत्र में अतिक्रमणधारियों द्वारा किए गए अतिक्रमण के कारण आए दिन जाम की स्थिति बनी रहती है। स्थिति यह बनी हुई है कि अतिक्रमणधारियों ने 30 से 40 फूट तक सडक के दोनों तरफ कब्जा किया हुआ है। बस अडडा क्षेत्र में यह अतिक्रमण फल फू्रट की रेहडी लगाने वालों एवं सब्जी वालों ने किया हुआ है। इसके अलावा ट्रैक्टर मार्किट की भी यहीं हालत बनी हुई है। इस अतिक्रमण को बढावा देने में दुकानदार भी कम नहीं हैं। सूत्रों से पता चला है कि अनेक दुकानदारों ने अपनी अपनी दुकानों के आगे रेहडी लगाने वालों व सब्जी आदि बेचने वालों से किराया तय किया हुआ है। एक तो अधिकांश दुकानदारों ने अपनी दुकानों के आगे पहले से ही 10 से 20 फुट टीन शैड बगैरा डालकर अतिक्रमण किया हुआ है, ऊपर से रही सही कसर इन फल फू्रट व सब्जी विक्रेताओं ने पूरी कर दी है। ऐसा नहीं हैं कि प्रशासन कुछ नहीं करता, समय समय पर प्रशासन अतिक्रमण हटाओ अभियान भी चलाता है परन्तु अतिक्रमणधारी हैं कि पुन: अपने उसी ढर्रे पर आ जाते हैं। सडक के दोनों तरफ अतिक्रमण होने के कारण आए दिन जाम की स्थिति बनी रहती है। सरकारी अस्पताल की चारदीवारी के साथ सब्जी विक्रेताओं ने 30 से 40 फुट तक अतिक्रमण किया हुआ है। इसके अलावा जो ग्राहक सब्जी खरीदने मोटरसाइकिल आदि वाहन पर आते हैं उनसे और रास्ता संकरा हो जाता है, जिससे जाम की स्थिति बन जाती है। कई बार जाम में एम्बूलैंस भी फंस जाती हैं। सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि हमें सरकार जगह दे तो हम वहां पर सब्जी बेचने को तैयार हैं परन्तु सरकार हमें जगह नहीं देती। जिस कारण मजबूरीवश हमें यहां पर खुलेआसमान के नीचे सब्जी बेचनी पड रही है। सब्जी विक्रेताओं ने बताया कि हम तो पिछले कई वर्षों से अपने लिए अलग से जगह की मांग करते आ रहे हैं परन्तु आश्वासन के सिवाय कुछ नहीं मिलता।


Have something to say? Post your comment
India Kesari
Email : editor@indiakesari.com
Copyright © 2016 India Kesari All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech