Latest
भारत के इस कदम से चीन को लग सकती है मिर्ची!विशाल सिक्का की विदाई 32 हज़ार करोड़ की पड़ी!राहुल गांधी के करीबी आशीष कुलकर्णी ने छोड़ी कांग्रेस, लगाए बड़े आरोपनूह:प्रसिद्ध हास्य कलाकार ख्याली का नि:शुल्क हास्य कार्यक्रम 19 अगस्त कोनगर निगम के ड्राईवरों ने श्रेणी वाईज वेतन देने की मांग को लेकर की हड़तालपुन्हाना: मेवात इंजीनियरिंग कालेज नूंह द्वारा कवि सम्मेलन आयोजितरोहतक:फिजियोथैरेपी विभाग के छात्रों ने फूंका कुलपति का पुतलास्मार्ट सिटी में चार चांद लगायेगी अक्षय जल योजना: सीमा त्रिखारोहतक :संत गोपालदास को रिहा किया जाये और मांगे माने सरकार : जयहिंद इण्डियन बैंक ने 111वें स्थापना दिवस पर किया निशुल्क हैल्थ चैकअप कैम्प का आयोजन
Faridabad

फरीदाबाद- नोटबंदी व जन विरोधी नीतियों के खिलाफ मोदी के नाम ज्ञापन सौंपा

January 10, 2017 06:19 PM

फरीदाबाद- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नोटबंदी व अन्य जन विरोधी नीतियों के खिलाफ अखिल भारतीय अभियान को आगे बढ़ाते हुए और राहुल गांधी जी के संदेश को जन जन तक पंहुचाने के लिए आज दिनांक १० जनवरी, २०१७ को फरीदाबाद जिला में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रदेश समन्वयक पूर्व केबिनेट मन्त्री दिल्ली सरकार डा. योगानन्द शास्त्री के नेतृत्व में सभी कांग्रेस कार्यकर्ता व पदाधिकारीगण मथुरा रोड से पैदल मार्च करते हुए, सैक्टर-१२ स्थित लघु सचिवालय पंहुचकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम एक ज्ञापन जिला उपायुक्त के माध्यम से सौंपा गया। इस अवसर पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के जोनल समन्वयक जितेन्द्र कोचर, फरीदाबाद कांग्रेस प्रभारी प्रदीप जैलदार, पूर्व विधायक आनन्द कौशिक, पूर्व महापौर डा. अतर सिंह, प्रदेश महासचिव बलजीत कौशिक, राजेन्द्र शर्मा, प्रदेश सचिव सुमित गौड, सतबीर डागर, सत्यनारायण, दिनेश चंदीला, युवा कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष जे.पी. नागर, विजय प्रताप सिंह, परमजीत गुलाटी, विकास चौधरी, विधायक ललित नागर के भाई राजू नागर, ओमपाल टोंगर, राकेश भडाना, ललित भडाना, यशपाल नागर आदि पदाधिकारी विशेष रूप से मौजूद थे।इस अवसर पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रदेश समन्वयक पूर्व केबिनेट मन्त्री दिल्ली सरकार डा. योगानन्द शास्त्री ने उपस्थित कांग्रेस कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि नोटबंदी भारत के गरीब, किसानों, मजदूरों, दुकानदारों, मध्यम वर्ग तथा छोटे कारोबारियों पर एक सर्जिकल स्टा्रईक हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ८ नवम्बर, २०१६ को देश की ८६ फीसदी करेंसी को बंद करके एक प्रतिशत कालाधन धारकों को पकडवाने के लिए ९९ प्रतिशत ईमानदार, मेहनतकश भारतीयो पर मुसीबतों का पहाड तोड दिया हैं। भारत की तरक्की का पहिया जाम हो गया हैं और पूरे देश मे आर्थिक अराजकता छा गई है। उन्होने कहा कि स्वयं प्रधानमंत्री पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं जिनकी आज तक कोई जांच नही की गई है, उनपर सहारा ग्रुप व बिरला ग्रुप से जबरन धनवसूली, कालाधन लेने व भ्रष्टाचार करने के गंभीर आरोप हैं। जिनकी निष्पक्ष जांच करवाकर जनता के सामने लाना चाहिए।इस अवसर पर फरीदाबाद के पूर्व विधायक आनन्द कौशिक ने लोगो को सम्बोधित करते हुए कहा कि आदित्य बिरला ग्रुप से जबरन २५ करोड़ रूपये तथा सहारा ग्रुप से ४०.१ करोड़ रूपये की वसूली के आरोप लगे हैं। मोदी जी, आप इन आरोपों के बारे में चुप्पी साधे हुए हैं, जो आपके अपराधबोध की इशारा कर रही है। क्या आप इन दोनो गंभीर मामलो में स्वतंत्र जांच कराने के लिए तैयार हैं ? श्री कौशिक ने कहा कि भाजपा के पदाधिकारी जनता को बरगला रहे हैं कि कांग्रेस ने जनता को लूट-लूटकर खाया हैं जबकि अभी जितने भी लोग अवैध धन के साथ पकडे गये हैं वे सभी भाजपा के लोग हैं। कांग्रेस पार्टी से संबध रखने वाला कोई भी कार्यकर्ता अवैध धन के साथ नही पकडा गया है, इससे साबित होता है कि भाजपा के लोग नोटबंदी की आड में अपना कालाधन खपाने की कवायद में लगे हुए हैं।इस अवसर पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के जोनल समन्वयक जितेन्द्र कोचर ने कहा कि जहां एक तरफ देश के आम नागरिक बैंको से अपना पैसा निकालने के लिए कई दिनो तक लाईनो में खडे इंतजार कर रहें हैं, तो वहीं दूसरी तरफ मोदी सरकार के सरपरस्ती में ३० प्रतिशत के कमीशन पर काले धन को सफेद बनाने तथा नए नोटो मे बदलने के लिए एक काला बाजार फल फूल रहा हैं। गौरतलब बात यह हैं कि इसमें शामिल किसी भी भाजपा नेता की भूमिका की जांच नही की गई है।
इस अवसर पर फरीदाबाद कांग्रेस कमेटी के प्रभारी एवं प्रदेश महासचिव प्रदीप जैलदार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नोटबंदी की घोषणा से पूर्व भाजपा के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों द्वारा बैंक खातों मे जमा किये गये करोड़ो रूपये की जांच अभी तक नही कराई गई हैं। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने अहमदाबाद के को-आपरेटिव बैंक ने नोटबंदी के तीन दिन में ५०० करोड़ रूपये जमा किये जिनकी अभी तक कोई जांच नही की गई है। अहमदाबाद के महेश शाह ने लगभग १४ हजार करोड़ रूपये के कालेधन की घोषणा की, जो कि भाजपा के राष्ट्रीय स्तर के नेताओं की थी। जिसकी निष्पक्ष जांच नही की गई। उन्होने कहा कि कांग्रेस के उपाध्यक्ष, श्री राहुल गांधी तथा कांग्रेस पार्टी ने श्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ भ्रष्ट्राचार के आरोपों की निष्पक्ष जांच की मांग की है। कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी व कांग्रेस पार्टी देश के १२५ करोड़ लोगो की ओर से मांग करती हैं कि नोटबंदी के चलते भारी नुकसान का शिकार हुए लोगो को मुआवजा दिया जाये। बैंक से पैसा निकालने की पाबंदी फौरन हटाई जाए। भोजन के अधिकार के तहत दिये जाने वाले राशन की कीमत को एक साल के लिए आधा किया जाए। बीपीएल परिवार की महिला के खाते में २५ हजार रूपये जमा किये जाए। मनरेगा मजदूरो के काम के दिन व दिहाडी दोगुनी की जाए। छोटे दुकानदारो व उद्योगो को इंकम टैक्स व सेल्स टैक्स में एक सांल तक ५० प्रतिशत की छूट दी जाए।
इस अवसर पर रामजीलाल, प्रताप शर्मा, सीमा जैन, रैनू चौहान, विनोद गिरी, युवा कांग्रेस बडखल अध्यक्ष राजेश भडाना, युवा कांग्रेस जिला महासचिव संजय कुमार, रतीराम पाहट, अशोक रावल, सरला भामोत्रा, लाडो देवी धर्मदेव आर्य, मनोज अग्रवाल, जयकिशन भारद्वाज, अनिल तेवतिया, रधंावा फागना, सुनीता फागना, एस.एल. शर्मा, पम्मी देवी, जमुनादेवी, ढकेली, लीला गुप्ता, कुमारी निशा, रमेश गौतम, विनोद कौशिक, राजेश तेवतिया, तुलसी प्रधान, रामप्रवेश सिंह, बिल्लू, सत्यनारायण शर्मा, रमेशचंद ठाकुर, महेन्द्र यादव, मेहरचंद आदि कांग्रेस कार्यकर्ता व पदाधिकारी विशेष रूप से मौजूद थे।

Have something to say? Post your comment
India Kesari
Email : editor@indiakesari.com
Copyright © 2016 India Kesari All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech