Latest
कलिंगा लांसर्स ने दिल्ली को धूल चटाकर दर्ज की पहली जीतजाह्नवी कपूर अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ दिखीं लंच डेट परजल्लीकट्टू विवाद:ट्रंप के अमेरिका में बैन लगाओ:कमलकप्तान कोहली की पहली सीरीज विजय रही रोमांचकअलीगढ़ हाइवे पर बदमाशों ने की फार्म हाउस और बस में लूटपाटबीजेपी की लिस्ट में बाहरियों और 'घरवालों' के 'अच्छे दिन' जारी यूपी चुनाव का वो फैक्टर जो बदल सकता है सारे समीकरणडबवाली;सभी के सामूहिक प्रयास से होते है सामाजिक कार्य: चौटालाहिसार;देश की दशा और दिशा बदलने के लिए युवा राजनीति में आगे आएं:चौटालारॉय की शुरूआत और स्टोक्स के तूफान से इंग्लैंड ने बनाए 321 रन
Faridabad

फरीदाबाद: राजा नाहर सिंह का 158वां बलिदान दिवस मनाया

January 09, 2017 07:25 PM

फरीदाबाद: सैक्टर-3 स्थित राजा नाहर सिंह पैलेस में शहीद राजा नाहर सिंह के 158वां बलिदान दिवस समारोह सादगीपूर्वक मनाया गया। इस मौके पर राजा नाहर सिंह की प्रतिमा पर राजा नाहर सिंह के वंशज राजा राजकुमार तेवतिया, सुनील तेवतिया, अनिल तेवतिया सहित दिल्ली के पूर्व मेयर जितेन्द्र कोचर, प्रदेश कांग्रेस के महासचिव प्रदीप जेलदार, पूर्व विधायक आनन्द कौशिक, कांग्रेस नेता विकास चौधरी, सुमित गौड़, पं.राजेन्द्र शर्मा, रतनलाल राणा, एस.एल. शर्मा, कुटप्पन फिलिप, एम.एम. शर्मा, रजनी चहल, शंकर चौधरी, सचिन शर्मा, प्रदीप, जयवीर भाटी, प्रदीप भाटी, जयकिशन वर्मा, डा. धर्मदेव आर्य सहित सैकड़ों लोगों ने पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। इस मौके कांग्रेस नेता प्रदीप जेलदार ने कहा कि राजा नाहर सिंह ने आजादी की लड़ाई में बढ़-चढक़र हिस्सा लिया था और 36 वर्ष की अल्प आयु में अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ बगावत का झण्डा बुलंद कर फांसी का फंदा चूम लिया था। उन्होंने कहा कि शहीद किसी भी जाति विशेष या धर्म विशेष का नहीं होता है व सभी धर्मों का सामूहिक होता है तथा प्रत्येक देश वासी को शहीदों द्वारा दर्शाएं गए मार्ग पर चलकर देश की एकता व अखण्डता में अपना योगदान देना चाहिए। पूर्व विधायक आनन्द कौशिक, कांग्रेस नेता विकास चौधरी, सुमित गौड़ ने देश को बांटने वाली ताकतों पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि कुछ ताकतें समाज को बांटकर देश को कमजोर करना चाहती है किन्तु हम शहीदों द्वारा दर्शाएं गए मार्ग पर चलकर देश की एकता व अखण्डता को महफूज रखेंगे। राजा राजकुमार तेवतिया ने अपने सम्बोधन में कहा कि बड़े दुख: की बात है कि पूर्व की सरकारों ने पावर का इस्तेमाल करते हुए अपने परिजनों के तो जगह-जगह मूर्तियां लगवा दी किन्तु देश की आजादी में अहम योगदान देने वाले शहीद राजा नाहर सिंह की कही भी मूर्ति लगवाना उचित नहीं समझा और तो और बल्लभगढ़ स्थित राजा के महल में संग्रालय की जगह मयखाना चल रहा है। जिसे कई बार ज्ञापन देकर सरकार से उसे हटवाने की मांग भी की गई है न तो पूर्व सरकार ने और न ही मौजूदा सरकार नेे इसकी सुनवाई की है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व राष्ट्रपति को पत्र लिखकर मांग की है कि वह शहीदों का अपमान न होने दें और इस मयखाने को राजा नाहर सिंह के महल से हटवा कर उसे संग्रहालय बनवाया जाए। वहीं उन्होंने बल्लभगढ़ में बन रहे मैट्रो स्टेशन का नाम भी शहीद राजा नाहर सिंह मैट्रो स्टेशन रखने की मांग की।


Have something to say? Post your comment
India Kesari
Email : editor@indiakesari.com
Copyright © 2016 India Kesari All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech