Latest
भारत के इस कदम से चीन को लग सकती है मिर्ची!विशाल सिक्का की विदाई 32 हज़ार करोड़ की पड़ी!राहुल गांधी के करीबी आशीष कुलकर्णी ने छोड़ी कांग्रेस, लगाए बड़े आरोपनूह:प्रसिद्ध हास्य कलाकार ख्याली का नि:शुल्क हास्य कार्यक्रम 19 अगस्त कोनगर निगम के ड्राईवरों ने श्रेणी वाईज वेतन देने की मांग को लेकर की हड़तालपुन्हाना: मेवात इंजीनियरिंग कालेज नूंह द्वारा कवि सम्मेलन आयोजितरोहतक:फिजियोथैरेपी विभाग के छात्रों ने फूंका कुलपति का पुतलास्मार्ट सिटी में चार चांद लगायेगी अक्षय जल योजना: सीमा त्रिखारोहतक :संत गोपालदास को रिहा किया जाये और मांगे माने सरकार : जयहिंद इण्डियन बैंक ने 111वें स्थापना दिवस पर किया निशुल्क हैल्थ चैकअप कैम्प का आयोजन
Chandigarh

चंडीगढ़: निर्दलीय प्रत्याशियों ने ईवीएम से छेडख़ानी का आरोप लगाया

January 04, 2017 06:42 PM

चंडीगढ़: चंडीगढ़ में एम सी चुनाव २०१६, भारत के संविधान मौजूदा अधिनियम नियम विनियमन के विपरीत आयोजित किया गया है । आज बहुत सारे प्रत्याशी इस अवैध चुनाव, जो कि लोकतंत्र की हत्या के रूप में घटित हुआ उसके खिलाफ एकजुट हुए! ३० से ज्यादा उमीदवारों ने आज श्री अविनाश सिंह, अध्यक्ष प्रवासी भलाई संगठन के नेतृत्व में एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में तथ्यों का खुलासा करने के लिए संगठित।प से विरोध दर्ज कराने हेतु आयोजित किया। सभी उमीदवार दिनांक १८/१२/२०१६ को सम्बंधित अधिकारी के पास पहुंचे और ईवीएम के साथ छेडख़ानी होने के संदेह के तहत उन्होंने सम्बंधित अधिकारी को प्रार्थना पत्र दिया  कि उन्हें इवीएम, स्ट्रांग रूम के निरिक्षण के लिए और ईवीएम स्ट्रांग रूम की सील, पैकिंग प्रक्रिया का निरीक्षण करने के लिए ईवीएम के साथ जाने की अनुमति दी जाए! उम्मीदवारों ने आरोप लगाया कि अधिकारियों ने सभी उमीदवारों की प्रार्थना को नडऱंदाज किया! उन्हें बताया गया कि राज्य निर्वाचन आयुक्त ने ईवीएम सीलिंग की प्रक्रिया का निरीक्षण करने, स्ट्रांग रूम का निरीक्षण करने, स्ट्रांग रूम की सीलिंग के समय उपस्थिति की अनुमति नहीं दी! अधिकारी द्वारा इनकार करने पर सभी उमीदवारों ने इस सम्बन्ध में शिकायतों के साथ  दिनांक १९/१२/२०१६ को राज्य निर्वाचन आयोग से संपर्क किया, परन्तु उनकी लिखित शिकायतों को यहाँ भी किसी न किसी बहाने से उपेक्षित किया गया। दिनांक २०/१२/२०१६ को जनादेश के मतों की ईवीएम सील, गिनती के समय, उमीदवारों को नहीं दिखाई गई! मतों की गिनती कुछ ही पलों में संपन्न हो गई और इस दौरान भी उमीदवारों को विभिन्न बूथों पर हुए निर्वाचित पोल की संख्या नहीं बताई गई। सभी उमीदवारों ने उपरोक्त अन्याय के खिलाफ अविनाश सिंह से समर्थन के लिए संपर्क किया। अविनाश सिंह ने इस संबंध में आरटीआई दायर करने के लिए, जसपाल सिंह आरटीआई कार्यकर्ता को निर्देश दिए। जसपाल सिंह आरटीआई कार्यकर्ता जो वार्ड नं २५ से उम्मीदवार है, उन्होंने सभी उम्मीदवारों की आरटीआई तैयार की और २७/१२/२०१६ को सभी उम्मीदवारों ने वीडियोग्राफी, या सीसीटीवी फुटेज और अभिलेखों की प्रमाणित प्रतियां प्राप्त करने के लिए उनकी आरटीआई एम सी चुनाव २०१६ के लिए संबंधित ईवीएम, स्ट्रांग रूम, प्रक्रिया, गिनती के सम्दर्भ में दायर कर राज्य निर्वाचन आयोग को अर्जी दी।  सूचना का अधिकार अधिनियम २००५ की धारा ७ (१) के तहत ४८ घंटे के भीतर जानकारी की आपूर्ति की उम्मीद थी पर अफसोस ऐसा नहीं किया गया। इन सभी तथ्यों से यह पता चलता है एम सी चुनाव २०१६ में कोई पारदर्शिता नहीं थी अपितु यह केवल सत्ता पक्ष बीजेपी का अनुचित अवैध नाटक था ताकि वह आपने शुभचिंतकों को सत्ता सौंप सके और साबित कर सके  कि भारतीय जनता नोटबंदी विमुद्रीकरण, जन विरोधी नीतियों के बावजूद इस सरकार से संतुस्ट है।  संवाददाता सम्मेलन के दौरान अविनाश सिंह, जसपाल सिंह और सभी उम्मीदवारों ने राज्य निर्वाचन आयोग, मुख्य चुनाव आयुक्त भारत, सभी ईमानदार अधिकारियों से अनुरोध किया कि इस एम सी चुनाव २०१६ को पूर्ण रूप से अवैध शून्य घोषित किया जाए अन्यथा वह सभी ७२ घंटों के बाद न्याय हेतु उच्च  न्यायालय के सामने न्याय हेतु जाने के लिए मजबूर हो जायेंगे! इस संवादाता सम्मेलन में सभी उमीदवारों जिनमें राजेश कुमार (वार्ड ११), रविंदर कुमार (१४) दलीप कुमार (२३), तरसेम मित्तल (१८)सुमन देशवार (१२)नरेश चालिया (१४)जसपाल सोनी (२२)कमलजीत सिंह (१४) संजय कुमार (२०) परवीन कुमार (१९) जसपाल सिंह (२५)पूनम (०६) कमल कुमार (१९) धरमपाल सिंह (११) चरणजीत पाल (२६) एच एस नगर (२५)अमित शर्मा (२६)लेख पाल (२४)मलकीत सिंह (२५)नेत राम (२६) ब्रिज पाल (२३) रीना देवी (१९) परमिंदर कुमार (२४)राकेश कुमार (२४)शिव कुमार (२४)कमलेश कुमार (२०) गुरुदेव यादव (२०) पूजा (१२) आशा देवी (१३) सुचिंदर कुमार (१४) ने भी भाग लिया!
कमलेश भी पहुंची :
 कांग्रेस की वरिष्ठ नेता व निगम चुनाव में प्रत्याशी रही पूर्व महापौर कमलेश ने भी अचानक इस प्रेस कांफ्रेंस में पहुंचकर सबको चौंका दिया। उन्होंने भी निर्दलीय प्रत्याशियों द्वारा उठाई आपत्तियों पर अपनी सहमति जताई व कहा कि इस मसले को ऐसे नहीं जाने देंगे। क्योंकि आगे पांच राज्यों के विस चुनाव हैं और वहां भी इस प्रकार की धांधलियां हो सकती हैं।

Have something to say? Post your comment
India Kesari
Email : editor@indiakesari.com
Copyright © 2016 India Kesari All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech