Astrology
जानिये, क्‍या है वैकुण्ठ एकादशी का आध्यात्मिक महत्व
January 13, 2017 12:40 PM

ऐसा माना जाता है कि अगर आप इस एकादशी में व्रत रखते हैं तो यह साल की 23 एकादशी के बराबर है। आइये जानते हैं कि क्यों यह एकादशी इतनी महत्वपूर्ण हैं और क्यों इसे वैकुण्ड एकादशी के नाम से जाना जाता है। भारत विविधताओं और एकता का देश है। जहाँ हर राज्य की एक अलग धार्मिक मान्यताएं और उससे जुड़ी पोशाकें हैं। यहाँ इतने सारे धार्मिक त्यौहार मनाएं जाते जिनकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता है। उसी में से एक है वैकुण्ठ एकादशी जो वैष्णव यानि विष्णु जी की पूजा करने वाले बड़ी धूम धाम से मानाते हैं।

खरमास के महीने में करें इन चीज़ों का दान,पाएं हर समस्या का समाधान
January 03, 2017 11:34 AM

खरमास के महीने में भगवान की पूजा और दान-पुण्य करने से विशेष लाभ मिलता है। आइये जानते हैं कि हमे क्या क्या दान करना चाहिए। हिंदू धर्म के पंचाग के अनुसार हर साल सौर पौष को खर मास कहते है। जिसे मलमास या फिर काली रात भी कहा जाता है। मलमास 16 दिसंबर से शुरू हो गए है। इस मास में भगवान की पूजा और दान-पुण्य करने से विशेष लाभ मिलता है। आइये जानते हैं कि हमे क्या क्या दान करना चाहिए।

हिन्दू धर्म में कुमकुम और हल्दी का महत्व
December 27, 2016 11:35 AM

प्राचीन काल से ही हिन्दू धर्म में कुमकुम या सिन्दूर और हल्दी को पवित्र माना जाता रहा है। शादी से लेकर पूजा तक इन दोनों चीज़ों का उपयोग शुभ समय और शुभ दिन में किया जाता है। आइये जानें कि हिन्दू धर्म में कुमकुम और हल्दी का क्या महत्व है?* कुमकुम या सिन्दूर ऐसा पदार्थ है जिसे हिन्दू विवाहित स्त्री से अलग नहीं किया जा सकता। प्राचीन काल से ही विवाहित स्त्री अपने माथे पर बिंदी या कुमकुम लगाती आ रही हैकुमकुम को बनाने के लिए मुख्यत: हल्दी और प्राकृतिक कपूर की आवश्यकता होती है।

धनवान बनना चाहते हैं तो आज अवश्य करें ये उपाय
December 21, 2016 11:03 AM

किसी भी शुभ कार्य को शुरू करने से पहले भगवान गणेश की पूजा की जाती है। शास्त्रों के अनुसार अलग-अलग कामनाओं को पूरा करने के लिए भगवान गणेश के विभिन्न उपाय किए जाते हैं। ये उपाय यदि बुधवार के दिन किए जाएें तो शीघ्र ही फल की प्राप्ति होती है। वहीं धन लाभ के लिए बुधवार के दिन कौनसे उपाय करने चाहिए, इसके बारे में हम आपको यहां जानकारी दे रहे हैं....

यदि आप पैसों की तंगी से परेशान है तो आज ही करें ये उपाय
December 18, 2016 03:45 PM

यदि आप पैसों की तंगी से परेशान है और सारे उपाय करने के बाद भी आपके पास पैसे नहीं रहते तो हम आपको बता करें है कुछ उपाय। इन उपाय को आजमाने से आपको लाभ मिल सकता है। रविवार के दिन मार्केट जाएं और तीन झाड़ू खरीदकर लाएं। अगले दिन नहाकर अपने घर के आसपास किसी मंदिर में ये तीनों झाड़ू रख दें। ध्यान रहें कि ऐसा करते समय आपको कोई देखें नहीं। यदि आपको कोई देख लेता है तो इस उपाय का प्रभाव कम हो सकता है इसलिए इस बात का खास ख्याल रखें। जान लीजिए कि अगर ये उपाय सही से कर लिया गया तो जल्द ही पैसों से जुड़ी तमाम समस्याएं कम हो सकती है लेकिन आपको भी अपनी महनत जारी रखनी होगी।

ऐसे लोगों को मिलता रहता है अचानक धन
December 13, 2016 10:36 AM

धन बिना जीवन में कुछ नहीं। ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं जो धन की कामना नहीं करता हो। हर व्यक्ति अधिक से अधिक धन कमाने की चाह रखता है। इसके लिए कुछ लोग दिन-रात कड़ी मेहनत करते हैं, लेकिन फिर भी मनचाहा धन नहीं मिल पाता। वहीं कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिनके पास के बिना श्रम ही अकूत धन होता है। उन पर हमेशा लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है। कुल मिलाकर व्यक्ति के धनवान या निर्धन होने का रहस्य उसके हाथों की रेखाओं तथा अन्य चिह्नों में छुपा होता है।  यदि व्यक्ति की जीवन रेखा गोल हो, मस्तिष्क रेखा द्विभाजित हो, सूर्य रेखाएं दो हों, शनि की उंगली सीधी तथा गुरु एवं सूर्य की बराबर हो, निर्दोष मस्तिष्क रेखा में त्रिकोण हो, हाथ भारी व ग्रह उच्‍च हों ऐसे लोगों को जिंदगी में अचानक धन मिलता रहता है।

जिन स्‍त्रियों में होते हैं ये 11 गुण, उनके पति बन जाते हैं भाग्यशाली
December 06, 2016 10:18 AM

हमारे यहाँ कामशास्त्र और कामसूत्र दो ऐसे प्राचीन धर्मग्रंथ हैं जिन्हें ले कर लोगों के बीच में काफी ग़लतफ़हमी हैं। आज हम आपकी इसी ग़लतफ़हमी दूर करेंगें। कामशास्त्र एक भारतीय साहित्य है जो की कामदेव अर्थात इच्छा के ज्ञान के साथ संबंधित है। वहीँ कामसूत्र व्यावहारिक अभिविन्यास और स्पष्टीकरण के साथ संबंधित है। कामसूत्र के विपरीत, कामशास्त्र सामुद्रिक शास्त्र, एक वैदिक परंपरा है जो एक व्यक्ति के चेहरे, आभा और पूरे शरीर के विश्लेषण का अध्ययन करता है साथ ही इसी तर्ज पर उनके साथी और उनके व्यक्तित्व के साथ एक व्यक्ति की अनुकूलता के विश्लेषण के बारे में भी बताता है।

प्रवेश द्वार पर रखें इन चीजों को, होगी दिन दुगनी, रात चौगुनी
December 01, 2016 11:43 AM

प्रवेश द्वार भवन का अहम भाग होता है। कहते हैं कि आरंभ अच्छा तो अंत अच्छा। प्रवेश द्वार अगर वास्तु नियमों के अनुसार बनाया जाए तो वह उस घर में निवास करने वालों के लिए खुशियों को आमंत्रित करता है।यही नहीं, प्रवेश द्वार से हमें भवन के आंतरिक सौष्ठव और साज-सज्जा का अंदाजा भी हो जाता है। अगर घर का प्रवेश दृार साफ और सुंदर है, तो घर में सुख और संब्रद्धि आती है।आज हम आपको बताएंगे कि अपने प्रवेश दृार को किस तरह से सजाएं कि वहां का वास्‍तु बिल्‍कुल ठीक हो जाए और घर में दिन दुगनी, रात चौगुनी हो।

टूटी-फूटी चीजों को घर में क्यों नहीं रखना चाहिए
November 02, 2016 11:18 AM

घर ऐसा होना चाहिए जहां पर व्यक्ति को सुकून और आराम मिले। जब व्यक्ति पूरे दिन की भागदौड़ के बाद घर पहुंचे तो उसकी पूरे दिन की थकावट दूर हो जाए लेकिन कई बार सब कुछ होने के बाद भी व्यक्ति को अपने घर में आराम नहीं मिल पाता है। घर मे नकारात्मक ऊर्जा के कारण उसका घर में रह पाना भी मुश्किल हो जाता है। इसका कारण होता है वास्तुदोष, अगर घर में सकारात्मक ऊर्जा का वास हो जाए तो ये वास्तुदोष स्वतः ही समाप्त हो जाते है। चलिए आपको बताते हैं घर में सकारात्मक ऊर्जा बनाए रखने के लिए क्या करना चाहिए....

ऐसे दर्पण लगाएं घर में,आर्थिक परेशानी से मिलेगी मुक्ति
November 01, 2016 12:00 PM

आईना व्यक्ति के जीवन का एक अहम ह‌िस्सा है। लोग आईने में खुद को निहारते हैं अौर खुद को संवारते हैं। आईने का वास्तु की दृष्टि में भी महत्व है। वास्तु वैज्ञान‌िक वास्तुदोष दूर करने के लिए आईने का प्रयोग करते आए हैं। आईने से जहां वास्तुदोष दूर किया जा सकता है वैसे ही इसके गलत प्रयोग से वास्तु दोष भी पैदा होता है। जिसके कारण धन और स्वास्‍थ्‍य की हानि होती है। 

अगर घर में धन नहीं रुकता तो धनतेरस पर ये 5 उपाय करें
October 25, 2016 01:51 PM

कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रर्योदशी का दिन धनतेरस के रूप में मनाया जाता है। मान्यता है कि धनतेरस को भगवान धन्वंतरि समुद्र से अमृत कलश लेकर आए थे। इसलिए इस दिन बर्तन खरीदा जाए तो पात्र में जितनी धारण करने की क्षमता होती है उससे तेरह गुना धन और ऐश्वर्य प्राप्त होने के योग बनते हैं। इस दिन धन लाभ के लिए कई उपाय किए जाते हैं। वास्तु के अनुसार इस दिन घर में छोटी छोटी बातों का खास ध्यान रखने घर में बरकत होती। कहा जाता है कि जिसके घर में धन नहीं रुकता उऩ्हें इन 5 बातों का खास ध्यान रखना चाहिए।

दिवाली से पहले करें ये उपाय कभी नहीं होगी धन की कमी...
October 24, 2016 12:27 PM

दिवाली यानि की दीपावली से पहले आने वाला पुष्य नक्षत्र इस त्योहार में खरीदारी के लिए बहुत शुभ माना जाता है। अगर यह नक्षत्र सोमवार, गुरुवार और रविवार को आता है तो यह नक्षत्र ज्यादा फलदायी होता है। इस साल कार्तिक अमावस्या से पहले पुष्य नक्षत्र दो दिन का पड़ रहा है। इस दिन आपकों अपने आराध्य देव और कुलेदवता की पूजा करनी चाहिए। इस पूजा से मां लक्ष्मी बेहद प्रसन्न होती है और आपके घर में धनवर्षा होती है।पुष्य नक्षत्र के दिन नए बही-खातों और लिखापठी की चीजों को शुभ मुहूर्त में खरीद कर उन्हें व्यापारिक प्रतिष्ठान में स्थापित करना चाहिए। साथ ही सोना-चांदी, बहुमूल्य रत्न, ज्वैलरी आदि भी खरीदना शुभ होता है।

भारतीय महिलाओं के सबसे पसंदीदा त्यौहार करवा-चौथ की कहानी
October 19, 2016 11:49 AM

हमारे देश की सबसे खूबसूरत बात है इसकी संपन्न और अनोखी संस्कृति। चाहे कोई भी त्यौहार हो, हमारे देश में वो पूरे उत्साह से मनाया जाता है।नवरात्री से लेकर धनतेरस, गुड़ी-पाड़वा से लेकर करवा-चौथ, भारत के लोग हर छोटा-बड़ा त्यौहार दिल खोल कर मनाते हैं। त्योहारों की बात चली है तो सबसे करीबी त्यौहार का ख्याल आता है। करवा-चौथ।मुख्य रूप से पंजाबियों और सिखों का ये त्यौहार महिलाएं अपने पति की सुरक्षा, स्वस्थ और लम्बी उम्र के लिए मनाती हैं।

शनिवार को सरसों के तेल में चेहरा देखकर दान करें, होंगे फायदे
October 15, 2016 11:18 AM

नई दिल्ली:अगर आपकी कुड़ली में शनि अशुभ फल दे रहा है तो हर शनिवार को शनि मंदिर में तेल का दीपक जलाना शुभ माना जाता है। इस दिन काली चीजें काले तिल, काले कपड़े दान करना अच्छा माना जाता है। आइए जानते हैं और कौन से उपाय करने से शनि भगवान प्रसन्न होते हैं।

नवरात्रि में रोज़ एक-एक दिन चढाएं देवी मां को ये 9 प्रसाद
September 27, 2016 11:25 AM

नवरात्रि नौ रातों की धूमधाम होती है जो दुर्गा माता के नौ रूपों को समर्पित होती है। इन नौ रातों में, शक्ति के नौ रूपों की पूजा होती है। संस्कृत में नवरात्री का शाब्दिक अर्थ होता है नौ रातें। जानिये नवरात्रि में क्‍यूं की जाती है कन्याओं की पूजा नवरात्रि का हर एक दिन माँ दुर्गा के एक रूप को समर्पित होता है और इस दिन श्रद्धालुओं द्वारा इनकी पूजा होती है।गुजरात में नवरात्रि में नौ रातों का जश्न, मस्ती और नाच गान होता है। गुजरात में श्रद्धालु रात भर नाच गान करते हैं और पूरी रात डांडिया या गरबा खेला जाता है। नवरात्रि उपवास के दौरान क्‍यूं वर्जित होता है अन्‍न का सेवन? देश के दूसरे कोनों में श्रद्धालु इन नौ दिन उपवास रखते हैं और माँ दुर्गा के अनेक रूपों को अलग अलग खाने की सामग्री चढ़ाई जाती है। इन नौ दिनों का एक श्रद्धालु के लिए विशेष महत्व होता है जिसका वर्णन नीचे किया गया है।

ये नवरात्र हरेंगे सबके दुख, 427 सालों बाद बना है ऐसा अनोखा संयोग
September 25, 2016 11:25 AM

हिन्दू समाज में पितृपक्ष और नवरात्रों के त्यौहार बहुत अहम माने जाते हैं। पितृपक्ष में जहां हम अपने पूर्वजों को याद करते हैं, वहीं नवरात्रों में देवी दुर्गा की पूजा-अर्चना और उपवास रखते हैं। हमारे समाज में माना जाता है कि करीबन सोलह दिनों तक चलने वाले पितृपक्ष में किसी भी नए और शुभ काम को टाल दिया जाता। वहीं देवी के 9 दिनों में किसी भी शुभ काम को किया जा सकता है।कई बार ऐसे संयोग बैठ जाते है जो बहुत सालों बाद होता हैं। ऐसा ही कुछ इस बार भी हुआ हैं।

ऐसा होगा घर का एंट्रेंस गेट तो घर में अाएंगी सिर्फ खुशियां
September 24, 2016 11:26 AM

वास्तु शास्त्र में मुख्य द्वार को काफी महत्व दिया जाता है। वास्तु के अनुसार घर में सकारात्मक और नकारात्मक एनर्जी घर में प्रवेश करती है और बाहर जाती है। घर में हमेशा मुख्य द्वार से सकारात्मक एनर्जी आएं तो इसके लिए वास्तु शास्त्र के अनुसार इन नियमों को जरूर अपनाएं।इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि मुख्य दरवाजा साफ सुथरा और इसे अच्छे तरीके से सजाया गया हो। यही नहीं घर के द्वार पर एक सुंदर से नेम प्लेट लगी हो।

नवरात्रि में क्‍यूं की जाती है कन्याओं की पूजा,जानिये
September 22, 2016 12:11 PM

नवरात्रि एक लोकप्रिय भारतीय त्यौहार है। यह लगभग पूरे भारत में अनेक रूपों में मनाया जाता है। देवी (दुर्गा, काली या वैष्णोदेवी) के भक्त नवरात्रि की अष्टमी या नवमी को छोटी लड़कियों की पूजा करते हैं। कन्या पूजा में देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है।छोटी लड़कियों की पूजा करने के पीछे बहुत सरल कारण छिपा हुआ है। आपके अंदर या तो आपका अहंकार रह सकता है या भगवान। अहंकार और भगवान एक साथ नहीं रह सकते। जब आपके अंदर से अहंकार पूरी तरह निकल जाता है तब आप दैवीय उर्जा का स्वागत करते हैं।

12345678910...
 
 
 
 
 
India Kesari
Email : editor@indiakesari.com
Copyright © 2016 India Kesari All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech